अबोध बच्चे ओर घर अग्नि की भेंट चढ़ गए उनके परिवार को पतरो की छत मुहैया निष्कामकर्मसेवाफाउंडेशन

*निष्कामकर्मसेवाफाउंडेशन*
*पला अग्निकांड जिसमे हीराराम गरासिया के दो अबोध बच्चे ओर घर अग्नि की भेंट चढ़ गए उनके परिवार को पतरो की छत मुहैया फाउंडेशन द्वारा करवाई जाएगी। आप फोटो में देख सकते है एक माँ जिसने अग्निकांड में बहुत कुछ खोया है उसके निराश चेहरे पर खुशी की एक झलक छलक आई है।*


लगभग 6-7 माह पूर्व घटित इस अग्निकांड ने हीराराम के परिवार लगभग तबाह कर दिया।इस घटना की जानकारी सरपंच सवाराम जी गरासिया द्वारा मिली और उक्त परिवार को फाउंडेशन द्वारा तत्काल जीवन जरूरी वस्तुओं,बर्तन,कपडे अनाज आदि की सहायता प्रदान की गईं।
यह मामला प्रशासन में भी दर्ज हुआ जिसका मुआवजा इस व्यक्ति को मिलना था ओर हमे भी लगा कि इसे मुआवजा शीघ्र मिल जाएगा और उस रकम से यह घर बना लेगा पर सरकारी फाइलें ऐसे कहा बिना किसी वजन के उपर निचे पहुचती है ।इस परिवार को कोई सरकारी सहायता नही मिली।
सरकारी मुआवजे के इंतजार से थक कर #निष्कामकर्मसेवाफाउंडेशन ने इन्हें पिलर सहित पतरे की छत के निर्माण का विश्वास दिया। कल सायरा विनायक मेडिकल के पृथ्वी सिंह जी, जो नित्य निःस्वार्थ निष्काम सेवाएं देते है, मिस्त्री जी को पला लेकर गए और वहां नाप लेकर आये। एक सप्ताह में इस परिवार को छत मिल जाएगी।
*मेरा जनसेवकों जनप्रतिनिधियों (चाहे किसी भी दल के हो) ओर सरकारी मुलाजीमो से एक ही सवाल है*
*क्या हमारी संवेदनाए इतनी गिर चुकी है कि किसी ऐसे पीड़ित परिवार को उसका हक दिलाने का समय भी नही है???*
*जिसके दो दो बच्चे अग्नि की भेंट चढ़ गए जिसका घर जल कर खाक हो गया क्या उसके जीवन की नई शुरुआत के लिए सहयोग की भावना भी मर चुकी है???*
*अपने आप को सवाल करना अगर आपके घर मे या आपके किसी सगे सबंधी के यहां ऐसी घटना घटित होती तो आप क्या युही इंतज़ार करते???*
*खैर आज भी सेवाभावी संवेदनशील मानवों की कमी नही है पृथ्वी सिंह ,मुकेश मिस्त्री सवाराम गरासिया ,शान्ती लाल गरासिया जैसे लोग निःस्वार्थ समय निकाल कर अपनी सेवाएं दे रहे है।*
*निष्कामकर्मसेवाफाउंडेशन के सभी दाताओ जिन्होंने इस परिवार हेतु सहायता प्रदान की उनको*
*कोटिशः नमन।*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *